ramnaam book 08

अनिरुद्धाज् युनिवर्सल बैंक ऑफ रामनाम के बारे में

‘रामनाम सबसे पवित्र नाम है, गुरु नाम सबसे पवित्र नाम है, मैं इस रामनाम की, इस भगवद्‌ नाम की बैंक खोल रहा हूँ।’

सद्‌गुरु श्रीअनिरुद्ध

सद्‌गुरु श्री अनिरुद्धजी के इन शब्दों के साथ, सर्वसामान्य श्रद्धावानों का जीवन आनंददायी एवं सुखी संपन्न बनाने के उद्देश्य से १८ अगस्त २००५ को एक अनोखे एवं निराले उपक्रम का शुभारंभ हुआ। उसका नाम है, ‘अनिरुद्धाज् युनिवर्सल बैंक ऑफ रामनाम’!

बैंक, बैंक का व्यवहार एवं उसके नियमों की बात आती है तो आज भी सर्वसामान्य व्यक्ति कुछ हद तक हिचकिचाता है। परन्तु ‘रामनाम’ की यह बैंक सभी प्रकार के भय, दिक्कतें एवं चिंताओं को दूर भगाती है। हर एक श्रद्धावान को अपनीसी लगनेवाली ये बॅंक सरल और आसान नियमों पर आधारित है।

‘अनिरुद्धाज युनिवर्सल बैंक ऑफ रामनाम’ की स्थापना के पहले महीने में ही इस बैंक में ४३१३८ अकाऊंट खोले गए और ६२१५८ रामनाम की बहियां जमा हुईं।

मराठी English 

  • oprolevorter

    June 8, 2019 at 11:01 am

    What i don’t understood is in reality how you’re now not actually a lot more neatly-liked than you might be right now. You’re so intelligent. You know thus considerably in relation to this matter, produced me personally believe it from so many varied angles. Its like women and men are not fascinated unless it’s one thing to do with Lady gaga! Your individual stuffs outstanding. Always care for it up!

  • Leave a Reply

    Your email address will not be published.


    Contact Us

    Address:

    101, Link Apartments, Old Khari Village, Khar (W), Mumbai – 40052, Maharashtra, India

    Email Address: aubr.ramnaam@gmail.com

    Timing: Monday to Saturday – 11 am to 7.30pm  (Excluding Thursday)

                  Thursday: Thursday 11 am to 4 pm